सिय्योन – टि.पि.एम का झुठा मसीह

टि.पि.एम के द्वारा बहुत सी पुस्तके प्रकाशीत कि गइ है, किंतु इनमे से कोइ भी इतना ज्यादा दुरुपदेश से भरी नही जीतनी कि “सिय्योन सुंदरता कि परीपुर्णता”. जब यीशु ने कहा था कि अंत के दिनो मे झुठे मसीहा आयेंगे तो यीशु का इशारा इस तरह के दुरुपदेश कि तरफ था. झुठा मसीहा यीशु के स्थान को बदलकर, खुद उस स्थान को ग्रहण कर लेता है. टि.पि.एम के अनुसार सिय्योन क्या है? इनके अनुसार परमेश्वर के 144000 प्रतीष्ठित सेवक सिय्योन है.

टि.पि.एम के भीतर सिय्योन एक झुठा मसीहा है

टि.पि.एम मे सब कुछ इसी उपदेश के इर्द-गीर्द धुमता है. कुछ महीने पहीले मै चर्च गया तो देखा कि कुछ विश्वासी प्रार्थना के लीये प्रेयर पोइंट्स बाट रहे है. मैंनेे उनसे एक परचा लीया. उसमे लीखा था कि “प्रार्थना करे कि सिय्योन और यरुशलेम का उपदेश सम्मेलन मे प्रचार किया जाये. टि.पि.एम मे, यीशु के प्रती भकती को सिय्योन के प्रती भकती से अदल बदल किया जाता है. टि.पि.एम के विश्वासीयो को अपने उद्धार पर जीतना यकिन नही उससे कइ ज्यादा यकिन इस बात पर है कि टि.पि.एम के सेवक सिय्योन जानेवाले है.

इस पुस्तक के कुछ परीछेदो को मैंने उन दिनो मे पढा था जब मै टि.पि.एम का एक कट्टर विश्वासी हुआ करता था. तब इन्हे मैंने टि.पि.एम कि नजर से पढा था. अब मैने इसे टि.पि.एम कि नज़र को हटाकर पढा. इन दोनो के बीच का अंतर बहुत बढा है. ये पुस्तक झुठे सुसमाचार का प्रचार करती है .

टि.पि.एम का झुठा उपदेश

इस पुस्तक के दुसरे अध्याय मे लोग सिय्योन से क्यो प्रेम करे इसे बताया गया है. नीचे इन 12 तरको पर गौर फरमाये. फिर इनके इन झुठ तरको मे “सिय्योन” शब्द कि जगह “यीशु” रखकर इसे सही तरीके से पढे. आपकि समझ मे आयेंगा कि इन लोगो ने बडी बेशरमी से यीशु के प्रती भक्ती को अपने प्रती भक्ती से अदल बदल डाला है. .

  1. प्रभु से बडी दया पाने के लीये हमे सिय्योन से प्रेम करना चाहीये.
  2. सिय्योन से प्रेम करने पर ही हम परमेश्वर से अधीक प्रेम कर पायेंगे.
  3. जो सिय्योन से प्रेम करते उनकी मानींद परमेश्वर कि स्तुती करनेवाला दुसरा कोइ नही.
  4. सिय्योन से प्रेम किये बीना हम चरीत्र कि पुर्णता को नही प्राप्त कर सकते
  5. यदि आप सिय्योन से प्रेम नही करोंगे तो आप गलत वस्तु से प्रेम करोंगे
  6. जब आप सिय्योन से प्रेम करते तो अपका पुरा मन बदल जाता.
  7. यदि आप सिय्योन से प्रेम करोंगे तो आपके आत्मीक जीवन मे आप हमेशा उत्साहीत रहोंगे.
  8. जब आप सिय्योन से प्रेम करोंगे तो अपके चहरे से विशेष महीमा प्रकट होंगी.
  9. जो सिय्योन से प्रेम करते है केवल वे लोग ही अपने जीवन को शुद्ध रख सकते है.
  10. यदि हम सिय्योन से प्रेम करेंगे तो हम न हिलनेवाले स्थीर स्थाइ होंगे.
  11. जो सिय्योन से प्रेम रखते है वे अभी पीछे न हटेंगे
  12. जो सिय्योन से प्रेम रखते है उनका आनंद सबसे बडा होंगा.

टि.पि.एम के अनुसार प्रतीष्ठित सेवको से (सिय्योन से) प्रेम न करने पर आप पीछे हटोंगे, आप परमेश्वर कि दया को पुरी तरह महसुस नही कर सकते, आप कभी ठिक रीती से परमेश्वर कि स्तुती नही कर सकते, कोइ कार्य ठिक रीती से नही कर सकते, आपका जीवन निरस होंगा और आप अशुद्ध होंगे.

इनकी नकल तो देखो! पापीयो को यीशु कि तरफ इशारा करने बदले ये इन्हे अपनी तरफ और अपने प्रतीष्ठा कि और आकर्शीत करते है. पवीत्र शास्त्र साफ कहता है कि अनुग्रह और दया पाने के लीये हम विश्वास के साथ अनुग्रह के सिहासन के निकट जाये (इब्रा 4:16). आंनद और प्रेम पवीत्र आत्मा के फल है (गला 5:22).  हमारा शुद्धीकरण यीशु का कार्य है. हमे शुद्ध करने के लीये वह हमे वचन के जल से स्नान कराता है (इफी 5:26). यीशु ने यहुन्ना 14:5 मे कहा “यदि तुम मुझ से प्रेम रखते हो, तो मेरी आज्ञाओं को मानोगे.” टि.पि.एम ने इस वचन को तोड मरोडकर इस आज्ञा को इस तरह से मोड डाला कि यदि आप टि.पि.एम के सेवको से प्रेम करोंगे तो परमेश्वर कि आज्ञा को मान सकते हो.

हमारा आत्मीक जीवन उतसाह से इसलीये भरा रहना है क्योकि हमारे सृष्टीकर्ता ने अपने बेटे को हमारे लीये बलीदान किया और हमारी छुडौती का दाम भरकर हमे लेपालक बना दिया, न कि इसलीये कि हम टि.पि.एम के सेवको से प्रेम करते है.

जैसे आपने देखा कि टि.पि.एम ने सच्चाइ को मरोडकर खुद कि महीमा करवाइ है. यशा 42:8 मे परमेश्वर कहता है कि मैं यहोवा हूं,  मेरा नाम यही है; अपनी महिमा मैं दूसरे को न दूंगा और जो स्तुति मेरे योग्य है वह खुदी हुई मूरतों को न दूंगा. हम इसी परमेश्वर कि सेवा करते है.

टि.पि.एम के सेवको का तीहरा छुटकारा

गर्व और घमंड मे आकर, टि.पि.एम ने ये भी कह डाला कि परमेश्वर ने टि.पि.एम के सेवको के लीये दो विशेष प्रकार कि मुक्ती का प्रबंध किया है. इस पुस्तक के 42 और 43 पन्ने (अंग्रेजी के) मे ये लीखा है.


“ सिय्योन के संतो के लीये दो विशेष प्रकार कि मुक्ती है. परमेश्वर के बाकी बच्चे मेमने के लोहु से छुडाये गये (मोल लीये गये). परंतु परमेश्वर के सेवको के लीये अन्य छुटकारे भी है. ये लोग पृथ्वी से छुडाये गये और मनुष्य के बीच से मोल लीये गये. विश्वासीयो के लीये यह आतमीक अनुभव और छुडौती नही. साधारण परमेश्वर के सेवको के लीये इस तरह का अनुभव नही. ये सीर्फ प्रतीष्ठित परमेश्वर के सेवको के लीये है जीनके सिय्योन कहकर पुकारा गया है.”


छुडौती (छुटकारे) का अर्थ है कि दाम देकर मोल लेना. जब दास, मालक के अधीन होता है तो पैसे देकर उसकी आजादि के लीये उसे छुडाया जा सकता है. यीशु ने हमारे छुडौती का दाम दिया. हम पाप के गुलाम थे. उसने दाम देकर हमे मसीह मे स्वतंत्र कर दिया. अब टि.पि.एम के अनुसार परमेश्वर ने साधारण विश्वासी के लीये जो दाम भरा है उसका तीन पट अधीक सेवक के लीये भरा है! ये तो दुरुपदेश है. न यीशु तीन बार मरा न ही उसके बलीदान के मुल्य को असमान भागो मे बाटा जा सकता है.

बाइबल छुडौती के विशय क्या कहती है?

क्योंकि उस ने एक ही चढ़ावे के द्वारा उन्हें जो पवित्र किए जाते हैं, सर्वदा के लिये सिद्ध कर दिया है (इब्रा 10:14)  

जिस ने अपने आप को हमारे लिये दे दिया, कि हमें हर प्रकार के अधर्म से छुड़ा ले, और शुद्ध करके अपने लिये एक ऐसी जाति बना ले जो भले भले कामों में सरगर्म हो (तितुस 2:14)

क्योंकि तुम जानते हो, कि तुम्हारा निकम्मा चाल-चलन जो बाप दादों से चला आता है उस से तुम्हारा छुटकारा चान्दी सोने अर्थात नाशमान वस्तुओं के द्वारा नहीं हुआ. पर निर्दोष और निष्कलंक मेम्ने अर्थात मसीह के बहुमूल्य लोहू के द्वारा हुआ (1 पतरस 1:18,19).  

नये नियम मे तीहरा छुडौती के दाम का उपदेश अंजाना है. किसी भी पत्री मे इसका जीकर नही. टि.पि.एम ने प्रकाशीतवाक्य 14 को तोड मरोडकर इस उपदेश का इजाद किया. दुसरे मसीही लोगो से अपने आपको श्रेष्ठ बताने के लीये ये लोग ऐसा करते.  ये लोग इसे डाइरेक्ट नही बोल सकते क्योकि यह साफ घमंड होकर दिखाइ देंगा. इसलीये ये इसे गहरी सच्चाइ के रुप मे पेश करते है. टि.पि.एम इस तरह के उपदेश के द्वारा ये कहना चाहता कि वह आपके मुकाबले परमेश्वर कि नज़र मे तीन गुणा अधीक मुल्यवान है.  यदि ये घमंड न कहाअये जाये तो घमंड किसे कहते है मुझे नही मालुम.

निशकर्ष

प्रीय पाठक, टि.पि.एम झुठे उपदेश का प्रचार करता है. ये सुसामचार कि सच्चाइ के साथ झुठ का मिश्रण करते है. आगे के लेखो मे हम आपको टि.पि.एम कि प्रकाशीत पुस्तको से बतायेंगे कि यीशु का बलीदान और सेवकाइ हमारे लीये उद्धार के लीये टि.पि.एम के अनुसार पर्यापत नही है. यीशु ने कहा कोइ दो स्वामीयो कि सेवा नही कर सकता. आप यीशु को और सिय्योन को स्वामी नही बना सकते. एक मार्ग सत्य और जीवन है और दुसरा आपके जीवन के नाश के लीये टि.पि.एम कि कलपना का पैदावार है. इस लेख मे वर्णन किये गये 12 कारण टि.पि.एम के झुठे मसीहा को देखने के लीये और इस तरह के उपदेशो से दुर जाने के लीये, आपकी आखे खोलने के लीये काफी है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*